• July 12, 2024

मेडिकल काॅलेज में संदिग्ध हालत में डॉ. दीक्षा की मौत, परिजनों ने हत्या का लगाया आरोप

 मेडिकल काॅलेज में संदिग्ध हालत में डॉ. दीक्षा की मौत, परिजनों ने हत्या का लगाया आरोप

गणेश शंकर विद्यार्थी मेडिकल काॅलेज में संदिग्ध परिस्थितियों में डाॅ. दीक्षा तिवारी की छत से गिरकर मौत हो गई। परिजनों ने हत्या का आरोप लगाया है। परिजनों का कहना है कि छत पर चल रही पार्टी के दौरान उसे घसीटा गया और नीचे फेक दिया गया। मामले में पुलिस ने शव का पंचायतनामा भरकर आगे की विधिक कार्रवाई में जुट गई।

बरेली के कारोबारी प्रदीप तिवारी की 24 वर्षीय बेटी डाॅ. दीक्षा तिवारी ने हाल ही में गणेश शंकर विद्यार्थी मेडिकल काॅलेज से एमबीबीएस की पढ़ाई कर पासआउट किया था। डाॅ. दीक्षा तिवारी की नौकरी मेरठ मेडिकल में लग गई थी और वहां पर उन्होंने 25 जून को ज्वाइन भी कर लिया था। उनके साथ पढ़ाई कर रहे अन्य दो डाॅक्टर भी दूसरी जगह ज्वाइन कर चुके हैं। ज्वाइनिंग के बाद डाॅ. दीक्षा और उनके साथ पढ़ाई करने वाले दो डाॅक्टर भी बुधवार को कानपुर आए और मेडिकल काॅलेज की रसायन शास्त्र की प्रयोगशाला की छत पर देर रात पार्टी कर रहे थे। इसी दौरान चौथी मंजिल से डाॅ. दीक्षा गिर गई और फौरन हैलट अस्पताल लाया गया जहां पर डाॅक्टरों ने डाॅ. दीक्षा को मृत घोषित कर दिया। घटना की जानकारी पर पहुंचे परिजनों ने हत्या का आरोप लगाया है। परिजनों का कहना है कि पार्टी के दौरान डाॅ. दीक्षा को छत पर घसीटा गया और फर्श पर खून के धब्बे मिले हैं। इससे साफ है कि डाॅ. दीक्षा की हत्या की गई है।

मामले में डीसीपी मध्य आरएस गौतम ने गुरुवार को बताया कि देर रात में मेडिकल कालेज की केमिस्ट्री लैब की छत से संदिग्ध परिस्थितियों से डाॅ. दीक्षा चौथी मंजिल से नीचे गिर गईं। उनके साथ दो अन्य डाॅक्टर जो डाॅ. दीक्षा के साथ पढ़ रहे थे, वह भी गिर गये। ऐसी जानकारी दी गई है और हैलट अस्पताल में घायल अवस्था में डाॅ. दीक्षा को भर्ती कराया जहां पर उनकी मौत हो गई। परिजनों की ओर से तहरीर मिलने और अन्य बिन्दुओं पर हो रही जांच रिपोर्ट के आधार पर आगे की विधिक कार्रवाई की जाएगी।

Digiqole Ad

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *