• June 22, 2024

Assembly Session : योगी ने माफियाओं के मुद्दे पर विपक्ष को लगाई फटकार, कहा – ”माफिया कोई भी हो उसे मिट्टी में मिला दिया जाएगा”

 Assembly Session : योगी ने माफियाओं के मुद्दे पर विपक्ष को लगाई फटकार, कहा – ”माफिया कोई भी हो उसे मिट्टी में मिला दिया जाएगा”

लखनऊ : विधानसभा सत्र के छठवें दिन सीएम योगी ने विपक्ष पर जमकर हमला बोला है। विपक्ष द्वारा विधायक राजू पाल हत्‍याकांड के गवाह उमेश पाल और उनके गनर की हत्‍या के मुद्दे को लेकर किये गए सवालों को जवाब देते हुए सीएम योगी ने कहा कि, माफिया कोई भी हो उसे मिट्टी में मिला दिया जाएगा।

इतना ही सीएम योगी ने गुजरात की साबरमती जेल में बंद अतीक अहमद का नाम लिए बगैर कहा कि, ”प्रयागराज की घटना दु:खद है। उन्‍होंने आरोप लगाया कि समाजवादी पार्टी ने हमेशा माफियाओं को संरक्षण देने का काम किया। प्रयागराज की घटना के लिए जिम्‍मेदार माफिया को भी सपा ने विधायक और सांसद बनाने का काम किया था। अपराध इनकी रग-रग में बसा है। ”

सीएम योगी ने कहा कि, ”यूपी में माफियाओं के खिलाफ कार्रवाई नजीर बनी है। इस मामले में भी सरकार कड़ी से कड़ी कार्रवाई करेगी। सरकार माफियाओं को मिट्टी मिलाएगी ही लेकिन किसी को चोरी और सीनाजोरी करने की इजाजत नहीं है। चोरी और सीनाजोरी एक साथ नहीं चलेगी। सरकार ने माफियाओं की कमर तोड़ दी है। सीएम ने कहा कि माफियाओं को समाजवादी पार्टी ने पाला है। ”

ये भी पढ़े :- ]UP : सीएम योगी ने अखिलेश यादव पर बोला हमला, कहा – बाप का सम्मान नहीं किया शर्म आनी चाहिए

सीएम योगी आदित्‍यनाथ ने कहा कि, ”तुलसीदास रचित रामचरितमानस को कुछ लोगों ने फाड़ने और जलाने का काम किया। ऐसी ही घटना यदि किसी दूसरे मजहब के साथ हुई होती तो देखते कि क्या होता? उन्‍होंने कहा कि तुलसीदास जी ने जिस कालखंड में धार्मिक ग्रंथ रामचरित मानस लिखा, उसमें उन्होंने इसके जरिए समाज को जोड़ दिया लेकिन आज कुछ लोगों ने इस धार्मिक ग्रंथ को फाड़ने का प्रयास किया। जिसकी मर्जी आए, हिंदुओं का अपमान कर दे। अगर किसी और मजहब में हुआ होता, तो सोचिए क्या होता? ”

सीएम ने अपनी मॉरिशियस यात्रा का उल्‍लेख करते हुए कहा कि, ” मैं वहां प्रवासी भारतीयों के एक आयोजन में गया। मैंने उनसे पूछा कि क्या आपके पास कोई धरोहर है, उन्होंने रामचरित मानस को दिखाया। मैंने पूछा कि आपको पढ़ना आता है? तब उन्होंने कहा कि हम पढ़ना नहीं जानते, लेकिन यही हमारी विरासत है। हम जानते हैं कि रामचरित मानस अवधी में रची गई। क्या उसके शब्दों का सही मतलब सवाल उठाने वालों को पता है।”

सीएम योगी ने कहा कि, ”तुलसीदासजी का जन्म आज के चित्रकूट में हुआ था। बुंदेलखंडी में यदि हम बात करेंगे तो ‘ताड़ना’ शब्द का अर्थ देखने से होता है। इसकी गलत व्‍याख्‍या की गई। सीएम ने कहा कि ‘ताड़ना’ का मतलब मारने से होता है क्या? शूद्र का मतलब दलित से नहीं, श्रमिक से है। सीएम ने कहा कि रामचरित मानस पर विवाद खड़ा किया गया। सपा कार्यालय के बाहर पोस्टर लग रहे हैं। क्या ये सही है? उन्‍होंने कहा कि उत्‍तर प्रदेश कृष्ण की धरती है, संगम की धरती है, राम की धरती है। यहां रामायण जैसे ग्रंथ रचे गए। ऐसे ग्रंथों को जलाया जा रहा है? क्या यह देश और दुनिया में रहने वाले करोड़ों हिंदुओं को अपमानित करने का प्रयास नहीं है?”

Digiqole Ad

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *